Sunday, 30 December 2018

जब PM Modi के साथ पूरा Andaman मोबाईल की फ्लैशलाइट जलाकर बोल उठा Subhas Chandra Bose जिंदाबाद

जब मोदी के साथ पूरा अंडमान मोबाईल की फ्लैशलाइट जलाकर बोल उठा सुभाष बाबू जिंदाबाद !



Mann Ki Baat में PM Modi ने Guru Gobind Singh जी के साहस को नमन किया

चमकौर का युद्ध जहां 10 लाख मुग़ल सैनिकों पर भारी पड़े थे 40 सिक्ख !
Mann Ki Baat में PM Modi ने Guru Gobind Singh जी के साहस को नमन किया




Saturday, 29 December 2018

तीन तलाक पर Smriti Irani का जोरदार भाषण मुस्लिम जानकारों की बोलती बंद

तीन तलाक पर स्मृति ईरानी ने भड़ककर की हनुमान चालीसा की बात? मुस्लिम जानकारों की बोलती बंद !!






Friday, 28 December 2018

PM Modi ने सीना ठोक के कहा चोरों की नींद हराम हो गई है क्योंकि चौकीदार सोने को तैयार नहीं है

PM Modi ने सीना ठोक के कहा चोरों की नींद हराम हो गई है क्योंकि चौकीदार सोने को तैयार नहीं है



Wednesday, 26 December 2018

लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने नियुक्त किए 17 राज्यों के प्रभारी

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने लोकसभा चुनावों के मद्देनजर बुधवार को 17 राज्यों के लिए पार्टी प्रभारियों की नियुक्ति की.
राजस्थान  - केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर
उत्तराखंड - थावरचंद गहलोत 
उत्तर प्रदेश - गोवर्धन झडापिया, दुष्यंत गौतम और नरोत्तम मिश्रा
बिहार  - भूपेंद्र यादव 
छत्तीसगढ़ - अनिल जैन 
आंध्र प्रदेश - वी मुरलीधरन और देवधर राव
असममहेंद्र सिंह 
गुजरात - ओपी माथुर 

PM Narendra Modi ने क्यों कहा ? BJP महिला कार्यकर्ताओं का समर्पण दुनिया के लिए प्ररेणा

गांधीनगर में आयोजित दो दिवसीय भाजपा महिला मोर्चा के समापन सत्र को प्रधानमंत्री ने संबोधित किया. उन्होंने महिलाओं को आर्थिक से लेकर राजनैतिक पहलू पर मज़बूत करने वाली सभी योजनाओं का ज़िक्र किया. साथ ही उन्होंने पिछली कांग्रेस सरकार को महिलाओं को बुनियादी सुविधा नहीं मुहैया कराने के लिए कठघरे में भी खड़ा किया




Monday, 24 December 2018

Sunday, 23 December 2018

NDA Press Conference : Amit Shah | Nitish Kumar | Ram Vilas Paswan

साथ आये NDA के सभी घटक दल मिलके करेंगे महागठबंधन का खात्मा !!

NDA Press Conference : Amit Shah | Nitish Kumar | Ram Vilas Paswan




Saturday, 22 December 2018

दो मित्रो की कहानी से PM Narendra Modi ने साधा कांग्रेस पर निशाना !!

दो मित्रो की कहानी से PM नरेंद्र मोदी ने साधा कांग्रेस पर निशाना !!

PM Narendra Modi ने कहा हमने Act से आगे बढ़कर Action पर जोर दिया !!




Friday, 21 December 2018

पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी की जीवनी और उपलब्धियां | Biography and achievements of Former PM Atal Bihari Vajpayee


जनता के बीच प्रसिद्द अटल बिहारी वाजपेयी अपनी राजनीतिक प्रतिबद्धता के लिए जाने जाते थे। 13 अक्टूबर 1999 को उन्होंने लगातार दूसरी बार राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की नई गठबंधन सरकार के प्रमुख के रूप में भारत के प्रधानमंत्री का पद ग्रहण किया। वे 1996 में बहुत कम समय के लिए प्रधानमंत्री बने थे। पंडित जवाहर लाल नेहरू के बाद वह पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो लगातार दो बार प्रधानमंत्री बने।
वरिष्ठ सांसद श्री वाजपेयी जी राजनीति के क्षेत्र में चार दशकों तक सक्रिय रहे। वह लोकसभा (लोगों का सदन) में नौ बार और राज्य सभा (राज्यों की सभा) में दो बार चुने गए जो अपने आप में ही एक कीर्तिमान है।
भारत के प्रधानमंत्री, विदेश मंत्री, संसद की विभिन्न महत्वपूर्ण स्थायी समितियों के अध्यक्ष और विपक्ष के नेता के रूप में उन्होंने आजादी के बाद भारत की घरेलू और विदेश नीति को आकार देने में एक सक्रिय भूमिका निभाई।
श्री वाजपेयी जी अपने छात्र जीवन के दौरान पहली बार राष्ट्रवादी राजनीति में तब आये जब उन्होंने वर्ष 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन जिसने ब्रिटिश उपनिवेशवाद का अंत किया, में भाग लिया। वह राजनीति विज्ञान और विधि के छात्र थे और कॉलेज के दिनों में ही उनकी रुचि विदेशी मामलों के प्रति बढ़ी। उनकी यह रुचि वर्षों तक बनी रही एवं विभिन्न बहुपक्षीय और द्विपक्षीय मंचों पर भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए उन्होंने अपने इस कौशल का परिचय दिया।
श्री वाजपेयी जी ने अपना करियर पत्रकार के रूप में शुरू किया था और 1951 में भारतीय जन संघ में शामिल होने के बाद उन्होंने पत्रकारिता छोड़ दी। आज की भारतीय जनता पार्टी को पहले भारती जन संघ के नाम से जाना जाता था जो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का अभिन्न अंग है। उन्होंने कई कवितायेँ भी लिखी जिसे समीक्षकों द्वारा सराहा गया। अब भी वह राजनीतिक मामलों से समय निकालकर संगीत सुनने और खाना बनाने जैसे अपने शौक पूरे करते हैं।
श्री वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर, 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में रहने वाले एक विनम्र स्कूल शिक्षक के परिवार में हुआ। निजी जीवन में प्राप्त सफलता उनके राजनीतिक कौशल और भारतीय लोकतंत्र की देन है। पिछले कई दशकों में वह एक ऐसे नेता के रूप में उभरे जो विश्व के प्रति उदारवादी सोच और लोकतांत्रिक आदर्शों के प्रति प्रतिबद्धता को महत्व देते हैं।
महिलाओं के सशक्तिकरण और सामाजिक समानता के समर्थक श्री वाजपेयी भारत को सभी राष्ट्रों के बीच एक दूरदर्शी, विकसित, मजबूत और समृद्ध राष्ट्र के रूप में आगे बढ़ते हुए देखना चाहते हैं। वह ऐसे भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं जिस देश की सभ्यता का इतिहास 5000 साल पुराना है और जो अगले हज़ार वर्षों में आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार है।
उन्हें भारत के प्रति उनके निस्वार्थ समर्पण और पचास से अधिक वर्षों तक देश और समाज की सेवा करने के लिए भारत का दूसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण दिया गया। 1994 में उन्हें भारत का ‘सर्वश्रेष्ठ सांसद’ चुना गया। उद्धरणानुसार:”अपने नाम के ही समान, अटलजी एक प्रतिष्ठित राष्ट्रीय नेता, प्रखर राजनीतिज्ञ, नि:स्वार्थ सामाजिक कार्यकर्ता, सशक्त वक्ता, कवि, साहित्यकार, पत्रकार और बहुआयामी व्यक्तित्व वाले व्यक्ति हैं”। 
अटलजी जनता की बातों को ध्यान से सुनते हैं और उनकी आकाँक्षाओं को पूरा करने का प्रयास करते हैं। उनके कार्य राष्ट्र के प्रति उनके समर्पण को दिखाते हैं।

Thursday, 20 December 2018

Narendra Modi जी का Congress पर अब तक का सबसे बड़ा हमला

पहले की सरकार से हमारे संस्कार, सरोकार और रफ्तार अलग हैं : PM Modi




Wednesday, 19 December 2018

अब Rahul Gandhi को पप्पू ना कहें तो क्या कहें ? खुद देखिये !

जिसको दो मिनट बोलने के लिए तीन-तीन लोगो से पूछना पड़े उसे कांग्रेस देश का प्रधानमंत्री बनाना चाहती है !!

क्या ये सही है ?




Monday, 17 December 2018

देखिये कैसे रामायण की एक चौपाई से PM Modi ने पूरी Congress को हिला दिया

सच को श्रृंगार की जरूरत नहीं होती और झूठ चाहे जितना भी बोला जाए, उसमें जान नहीं होती !!




Saturday, 15 December 2018

Modi - Yogi ने Bareli - Amethi में वो किया जो गाँधी खानदान 70 साल में नहीं कर सका

रायबरेली में PM Modi ने विभिन्‍न विकास परियोजनाओं का किया उद्घाटन !!
रायबरेली में CM Yogi आदित्यनाथ ने किया जनसभा को संबोधित !!





Rajnath Singh ने कहा पूरे देश से माफी मांगे Rahul Gandhi | The Viral News Live

कांग्रेस अध्यक्ष ने राजनीतिक लाभ के लिए जनता को गुमराह करने की कोशिश की, और वैश्विक स्तर पर भारतीय छवि को बदनाम किया, उन्हें घर और देश के लोगों से माफ़ी मांगनी चाहिए। 
लोकसभा में गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह





Friday, 14 December 2018

PM Modi को चोर कहने और देश को गुमराह करने के लिए Rahul Gandhi माफ़ी मांगे : Amit Shah

सुप्रीम कोर्ट ने कहा राफेल विमान देश की जरूरत, डील में कोई गड़बड़ी नहीं !!
अब क्या राहुल गाँधी प्रधानमंत्री को चोर कहने और देश को गुमराह करने के लिए माफ़ी मांगेगे ?







राफेल विमान सौदे पर कांग्रेस को झटका SC ने कहा डील में कोई गड़बड़ी नहीं, अब क्या बोलेंगे राहुल ?

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कई अहम टिप्पणियां कीं. पढ़ें सुप्रीम कोर्ट की बड़ी टिप्पणियां...

1. राफेल विमान सौदे में कोई संदेह नहीं है.
2. राफेल की गुणवत्ता पर कोई सवाल नहीं हैं.
3. राफेल सौदे में कोई संदेह नहीं है इसलिए इससे जुड़ी सभी याचिकाओं को खारिज किया जाता है.
4. चीफ जस्टिस बोले कि राफेल विमान हमारे देश की जरूरत है.
5. चीफ जस्टिस ने कहा कि ऑफसेट पार्टनर की प्रक्रिया में हस्तक्षेप करने का कोई कारण नहीं है. किसी व्यक्ति के लिए निजी धारणा के आधार पर डिफेंस डील को निशाने पर नहीं लिया जा सकता है.
6. राफेल सौदे के दाम, प्रक्रिया और ऑफसेट पार्टनर किसी भी मुद्दे पर हमें कोई दिक्कत नहीं है.
7. इस फैसले को लिखते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा और सौदे के नियम को ध्यान में रखा. मूल्य और जरूरतें भी हमारे ध्यान में रही थीं.
8. शीर्ष अदालत ने कहा कि कीमतों के तुलनात्मक विवरण पर फैसला लेना अदालत का काम नहीं है.

Wednesday, 12 December 2018

हार कर भी दिल जीत लिया Shivraj Singh Chouhan ने | The Viral News Live

मध्य प्रदेश चुनाव परिणाम के बाद भोपाल में Shivraj Singh Chouhan की प्रेस वार्ता कहा 2019 में मोदी जी के लिए जान हाजिर है !!






Tuesday, 11 December 2018

हार के बाद भी सिर्फ देश की चिंता ऐसे हैं हमारे PM Narendra Modi

हार के बाद भी सिर्फ देश की चिंता ऐसे हैं हमारे PM Narendra Modi

PM Shri Narendra Modi addresses media ahead of winter session of Parliament.






Monday, 10 December 2018

Narendra Modi कहा 2022 तक हर परिवार के पास अपना पक्का घर होगा ।

2022 तक इस देश में एक भी ऐसा परिवार नहीं होगा, जिसका अपना पक्का घर नहीं होगा।






Saturday, 8 December 2018

Narendra modi बताया कैसे चार पीढ़ी से देश लूटने वाले अदालत के दरवाजे तक पहुंचे ?

Narendra modi बताया कैसे चार पीढ़ी से देश लूटने वाले अदालत के दरवाजे तक पहुंचे ?




Narendra Modi ने क्यों कहा Gandhi सरनेम लगाने से समस्याओं का समाधान नहीं होता

बड़े-बड़े सरनेम वाले भी सत्ता में आए लेकिन छोटी - छोटी समस्याओं का समाधान भी नहीं किया I मंजिलों की कमी नहीं थी, नियत की कमी थी, Solution की कमी नहीं थी, संवेदना की कमी थी : PM Narendra Modi








Friday, 7 December 2018

Amit Shah का Mamata Banerjee पर बड़ा आरोप कहा पंचायत चुनाव में BJP के 20 नेताओं को मरवाया

पंचायत चुनाव में इतनी हिंसा West Bengal में कभी Communist party के शासन में भी नहीं हुई।

BJP के 20 कार्यकर्ताओं सहित कुल मिलाकर 65 से ज्यादा राजनीतिक हत्याएं इस दौरान हुई, वहां की पुलिस और Trinamool Congress के कार्यकर्त्ता इन हत्याओं को शह दे रहें हैं !!






Thursday, 6 December 2018

Yogi Adityanath की धमकी कहा BJP की सरकार में दंगाइयों और गुंडों की खैर नहीं

जहां-जहां कांग्रेस की सरकारें थीं, वहां-वहां दंगे होते थे, लेकिन जहां भाजपा की सरकार होती है वहां दंगे नहीं होते हैं बल्कि लोग सुरक्षित रहते हैं: मुख्‍यमंत्री श्री योगी आदित्‍यनाथ


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जीवनी और उपलब्धियां | Biography and achievements of Prime Minister Narendra Modi


नरेन्द्र मोदी ने 26 मई 2014 को भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली और वे भारत के प्रथम प्रधानमंत्री हैं जिनका जन्म आजादी के बाद हुआ है। ऊर्जावान, समर्पित एवं दृढ़ निश्चय वाले नरेन्द्र मोदी एक अरब से अधिक भारतीयों की आकांक्षाओं और आशाओं के द्योतक हैं।
मई 2014 में अपना पद संभालने के बाद से ही प्रधानमंत्री मोदी चहुंमुखी और समावेशी विकास की यात्रा पर निकल पड़े हैं जहां हर भारतीय अपनी आशाओं और आकांक्षाओं को पूरा कर सके। वे ‘अंत्योदय’, अर्थात, अंतिम व्यक्ति तक सेवा पहुंचाने के सिद्धांत से अत्यधिक प्रेरित हैं।
नवीन विचारों और पहल के माध्यम से सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि प्रगति की रफ्तार तेज हो और हर नागरिक को विकास का लाभ मिले। अब शासन मुक्त है, इसकी प्रक्रिया आसान हुई है एवं इसमें पारदर्शिता आई है।
पहली बार प्रधानमंत्री जन-धन योजना के माध्यम से अभूतपूर्व बदलाव आया है जिसके अंतर्गत यह सुनिश्चित किया गया है कि देश के सभी नागरिक वित्तीय तंत्र में शामिल हों। कारोबार को आसान बनाने के अपने लक्ष्य को केंद्र में रखकर ‘मेक इन इंडिया’ के उनके आह्वान से निवेशकों और उद्यमियों में अभूतपूर्व उत्साह और उद्यमिता के भाव का संचार हुआ है। ‘श्रमेव जयते’ पहल के अंतर्गत श्रम सुधारों और श्रम की गरिमा से लघु और मध्यम उद्योगों में लगे अनेक श्रमिकों का सशक्तिकरण हुआ है और देश के कुशल युवाओं को भी प्रेरणा मिली है।
पहली बार भारत सरकार ने भारत के लोगों के लिए तीन सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की शुरुआत की और साथ-ही-साथ बुजुर्गों को पेंशन एवं गरीबों को बीमा सुरक्षा देने पर भी ध्यान केंद्रित किया है। जुलाई 2015 में प्रधानमंत्री ने डिजिटल इंडिया बनाने के उद्देश्य से डिजिटल इंडिया मिशन की शुरुआत की ताकि प्रौद्योगिकी की मदद से लोगों के जीवन में बेहतर बदलाव लाए जा सकें।

2 अक्टूबर 2014 को महात्मा गांधी की जयंती पर प्रधानमंत्री ने ‘स्वच्छ भारत मिशन – देशभर में स्वच्छता के लिए एक जन-आंदोलन’ की शुरुआत की। इस अभियान की व्यापकता एवं इसका प्रभाव ऐतिहासिक है।
नरेन्द्र मोदी की विदेश नीति से संबंधित विभिन्न पहल में विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र भारत की वैश्विक मंच पर वास्तविक क्षमता एवं भूमिका की छाप दिखती है। उन्होंने सभी सार्क देशों के राष्ट्राध्यक्षों की उपस्थिति में अपने कार्यकाल की शुरुआत की। संयुक्त राष्ट्र महासभा में दिए गए उनके भाषण की दुनिया भर में प्रशंसा हुई। नरेन्द्र मोदी भारत के ऐसे प्रथम प्रधानमंत्री बने जिन्होंने 17 वर्ष के लंबे अंतराल के बाद नेपाल, 28 वर्ष बाद ऑस्ट्रेलिया, 31 वर्ष बाद फिजी और 34 वर्ष बाद सेशेल्स की द्विपक्षीय यात्रा की। पदभार ग्रहण करने के बाद से नरेन्द्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र, ब्रिक्स, सार्क और जी-20 शिखर सम्मेलनों में भाग लिया, जहां अनेक प्रकार के वैश्विक, आर्थिक और राजनैतिक मुद्दों पर भारत के कार्यक्रमों एवं विचारों की जबर्दस्त सराहना की गई। जापान की उनकी यात्रा से भारत-जापान संबंधों में एक नए युग की शुरुआत हुई। वे मंगोलिया की यात्रा करने वाले प्रथम भारतीय प्रधानमंत्री हैं और चीन व दक्षिण कोरिया की उनकी यात्राएं भारत में निवेश लाने की दृष्टि से कामयाब रही हैं। फ्रांस और जर्मनी की अपनी यात्रा के दौरान वे यूरोप के साथ निरंतर जुड़े रहे।
श्री नरेन्द्र मोदी ने अरब देशों के साथ मजबूत संबंधों को काफी महत्व दिया है। अगस्त 2015 में संयुक्त अरब अमीरात की उनकी यात्रा 34 साल में किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली यात्रा थी जिसके दौरान उन्होंने खाड़ी देशों के साथ भारत की आर्थिक भागीदारी को बढ़ाने के लिए व्यापक स्तर पर पहल की। जुलाई 2015 में श्री मोदी ने पांच मध्य एशियाई देशों का दौरा किया। यह यात्रा अपने-आप में खास एवं विशेष रही। भारत और इन देशों के बीच ऊर्जा, व्यापार, संस्कृति और अर्थव्यवस्था जैसे क्षेत्रों में महत्वपूर्ण समझौते हुए। अक्टूबर 2015 में नई दिल्ली में ऐतिहासिक भारत-अफ्रीका फोरम सम्मेलन का आयोजन हुआ जिसमें 54 अफ्रीकी देशों ने भाग लिया। 41 अफ्रीकी देशों के नेताओं ने इस सम्मेलन में भाग लिया जिसमें भारत-अफ्रीका संबंधों को मजबूत बनाने पर व्यापक विचार-विमर्श किया गया। स्वयं प्रधानमंत्री ने सम्मेलन में भाग लेने आये अफ्रीकी नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठक की।
नवंबर 2015 में प्रधानमंत्री ने सीओपी-21 शिखर सम्मेलन में भाग लिया जहाँ उन्होंने विश्व के अन्य नेताओं के साथ जलवायु परिवर्तन पर विचार-विमर्श किया। श्री मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति ओलांद ने उर्जा संबंधित आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु सौर ऊर्जा का समुचित उपयोग करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सौर एलायंस का उद्घाटन किया।
अप्रैल 2016 में प्रधानमंत्री ने परमाणु सुरक्षा शिखर सम्मेलन में भाग लिया जिसमें उन्होंने विश्व मंच पर परमाणु सुरक्षा के महत्व के बारे में एक मजबूत संदेश दिया। उन्होंने सऊदी अरब का दौरा किया जहां उन्हें सऊदी अरब के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, किंग अब्दुलअजीज सैश से सम्मानित किया गया।
ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी अबॉट, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन एवं जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल सहित विश्व के कई अन्य नेताओं ने भारत का दौरा किया है एवं इन दौरों से भारत व इन देशों के बीच सहयोग सुधारने में सफलता मिली है। वर्ष 2015 के गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रपति बराक ओबामा प्रमुख अतिथि के रूप में भारत दौरे पर आए जो भारत-अमेरिका संबंधों के इतिहास में पहली बार हुआ है। अगस्त 2015 में भारत ने एफआईपीआईसी शिखर सम्मेलन की मेजबानी की जिसमें प्रशांत द्वीप समूह के शीर्ष नेताओं ने भाग लिया। इस दौरान प्रशांत द्वीप समूह के साथ भारत के संबंधों से जुड़े महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा की गई।

किसी भी एक दिन को “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” के रूप में मनाए जाने के नरेन्द्र मोदी के आह्वान को संयुक्त राष्ट्र में जबर्दस्त समर्थन प्राप्त हुआ। पहली बार विश्व भर के 177 देशों ने एकजुट होकर 21 जून को “अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस” के रूप में मनाए जाने का संकल्प संयुक्त राष्ट्र में पारित किया।
उनका जन्म 17 सितम्बर 1950 को गुजरात के छोटे से शहर में हुआ जहां वे गरीब किन्तु स्नेहपूर्ण परिवार में बड़े हुए। जीवन की आरंभिक कठिनाइयों ने न केवल उन्हें कठिन परिश्रम का मूल्य सिखाया बल्कि उन अपरिहार्य दुखों से भी परिचित कराया जिससे आम जनों को अपने दैनिक जीवन में गुजरना पड़ता है। इससे उन्हें अल्पायु में ही स्वयं को आमजन एवं राष्ट्र की सेवा में समर्पित करने की प्रेरणा मिली। प्रारंभिक वर्षों में उन्होंने राष्ट्र निर्माण के लिए समर्पित राष्ट्रवादी संगठन, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के साथ कार्य किया एवं इसके उपरांत वे राज्य स्तर व राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय जनता पार्टी संगठन के साथ कार्य करते हुए राजनीति से जुड़ गए।
वर्ष 2001 में वे अपने गृह राज्य गुजरात के मुख्यमंत्री बने। उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में चार गौरवपूर्ण कार्यकाल पूरे किए। उन्होंने विनाशकारी भूकंप के दुष्प्रभावों से जूझ रहे गुजरात को विकास रुपी इंजन के रूप में परिवर्तित कर दिया जो आज भारत के विकास में महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है।
नरेन्द्र मोदी एक जन-नेता हैं जो लोगों की समस्याओं को दूर करने तथा उनके जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्हें लोगों के बीच जाना, उनकी खुशियों में शामिल होना तथा उनके दुखों को दूर करना बहुत अच्छा लगता है। जमीनी स्तर पर लोगों के साथ गहरा निजी संपर्क होने के साथ-साथ वे ऑनलाइन भी उपलब्ध हैं। तकनीक के प्रति प्रेम एवं उसमें समझ रखने वालों नेताओं में वे भारत के सबसे बड़े राजनेता हैं। वेबसाइट के माध्यम से लोगों तक पहुंचने और उनके जीवन में बदलाव लाने के लिए वे हमेशा कार्यरत हैं। वे सोशल मीडिया, जैसे – फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस, इन्स्टाग्राम, साउंड क्लाउड, लिंक्डइन, वीबो तथा अन्य प्लेटफार्म पर भी काफी सक्रिय हैं।
राजनीति के अलावा नरेन्द्र मोदी को लेखन का भी शौक है। उन्होंने कई पुस्तकें लिखी हैं, जिनमें कविताएं भी शामिल हैं। वे अपने दिन की शुरुआत योग से करते हैं। योग उनके शरीर और मन के बीच सामंजस्य स्थापित करता है एवं बेहद भागदौड़ की दिनचर्या में उनमें शांति का संचार करता है।
वे साहस, करुणा और विश्वास से पूर्ण एक ऐसे व्यक्ति हैं जिसे देश ने इस विश्वास के साथ अपना जनादेश दिया है कि वे भारत का पुनरुत्थान करेंगे और उसे दुनिया का पथ–प्रदर्शक बनाएंगे।

Wednesday, 5 December 2018

Congress के समय हुए VVIP हेलिकॉप्टर घोटाले का राजदार Christian Michel हम...

UPA के कार्यकाल में हुए VVIP हेलिकॉप्टर घोटाले का एक राजदार हमारे हाथ लग गया है ! माँ बेटे को सता रहा जेल जाने का डर : PM Narendra Modi






Tuesday, 4 December 2018

Telangana में गरजा UP का शेर Yogi Adityanath | Owaisi भाइयो की बोलती बंद

तेलंगाना में गरजा उप का शेर योगी आदित्यनाथ, कर दी ओवैसी भाइयो की बोलती बंद !!








Monday, 3 December 2018

Telangana में KCR और Owaisi पर जमके बरसे मोदी कहा CM की जगह जनता के चरणो...

मोदी ने क्यों कहा ?

तेलंगाना को ऐसा मुख्यमंत्री चाहिए जो जनता जनार्दन के चरणों में बैठे








Saturday, 1 December 2018

Rahul Gandhi को हिन्दू कहने पर क्यों भड़की Sushma Swaraj ? जरूर देखे ये V...

भगवान न करे कि कभी वो दिन आए की राहुल गांधी से हिन्दू होने का मतलब समझना पड़े : Sushma Swaraj






Popular Posts